About

अनुगूँज इंडिया Anugooj India

मानुषिक संवेदनाओं, सामाजिक विसंगतियों और देश के सामयिक विषयों पर प्रकाश डालते हुए चैतन्य बुद्धिजीवियों की सशक्त प्रतिध्वनि को स्वर देता एक प्रयास। 

An effort to voice the strong resonance of conscious intellectuals on human sensibilities, social anomalies and national issues.

अनुगूँज का शाब्दिक अर्थ प्रतिध्वनि है। मानुषिक संवेदनायें, सामाजिक विसंगतियाँ, देश के सामयिक विषय और जीवन की विडम्बनाएँ जब मन-मस्तिष्क में एक गूँज सी टकरातीं  हैं तो उनकी प्रतिध्वनि शब्द, चित्र, संगीत और विभिन्न कलाएँ बनकर चारों ओर बिखर जातीं हैं।

मनुष्य बहुत सी भावनाओं को आजीवन जाने -अनजाने अपने साथ लेकर चलता है – प्रसन्नता, क्रोध, करुणा, अहँकार, पीड़ा, क्षोभ, प्रेम, घृणा आदि। ये सब भाव प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से किसी घटना या अनुभव से प्रभावित होते हैं। किसी घटना, भाव, वस्तु, व्यक्ति आदि का विशुद्ध और सजीव चित्रण करता हुआ एक कलाकार इनको आकार देता है। अनुगूँज ऐसे सब कलाकारों को साधक की दृष्टि से देखता है और उनकी कला को उनकी साधना-सा।

“अनुगूँज इंडिया” लेखकों की भावनाओं के शाब्दिक चित्रणों को समेटने का और उनके विचारों को अनुगूँज के पाठकों तक पहुँचाने का एक छोटा सा प्रयास है। यहाँ हिंदी और अँग्रेजी, दोनों भाषाओं के लेखकों को उनकी कवितायेँ ,लेख ,कहानियाँ, हास्य-व्यंग्य, यात्रा -संस्मरण भेजने हेतु “अनुगूँज इंडिया” स्वागत करता है।  

The literal meaning of Anugoonj is resonance. When human sensations, social anomalies, national issues and ironies of life echo in our mind, they resonate through words, images, music and other art forms.

Humans carry many emotions throughout their life, knowingly or unknowingly – happiness, compassion, egoism, pain, anger, love, hatred etc. All these expressions are directly or indirectly influenced by some event or experience. An artist depicts a true and lively image of an event, emotion, object, person, etc., giving their muse a shape. Anugoonj welcomes all such artists.

“Anugoonj India” is a small effort to incorporate literal depictions of feelings and to share them with readers. Writers are welcome to share their Poems, Articles, Stories, Humor-Satire, Travel-memoirs etc. in both Hindi and English language.


संपादक – निवेदिता चक्रवर्ती
Editor In Chief – Nivedita Chakravorty

FOUNDER OF “ANUGOONJ अनुगूँज”
An Award Winning Poet | Hindi Literature Expert |
Writer | Speaker |
Book Author “Mere Hisse Ke Noor



%d bloggers like this: